बागवानी फसलों के लिए बाजार सूचना सेवा, उद्देश्य और कार्यान्वयन

Bagvani Ki Fasalo Ke Liye Bajar Soochna Seva

बागवानी फसलों के लिए बाजार सूचना सेवा

उद्देश्य

  1. महत्वपूर्ण फलों, सब्जियों तथा फूलों आदि के लिए देश के विभिन्न बाजारों में थोक मूल्यों, माल की आवक और उनकी प्रवृतियों तथा चयनित बाजारों की बढ़ती हुई संख्या के लिए खुदरा मूल्य से संबंधित जानकारी एकत्र करना।
  2. आवकों की प्रवृतियों, मूल्यों तथा चयनित फलों एवं सब्जियों से संबंधित अन्य कारकों जैसे संग्रहगार में स्टाॅक, फसल स्टैण्ड आदि का विश्लेषण करना तथा बाजार आसूचना रिपोर्ट एकत्र करना।
  3. बाजार सूचना आंकड़ा के कुशलक्षम तथा समयबद्ध उपयोग के लिए देश भर में शीघ्र संग्रह तथा प्रसार के लिए सूचना प्रणाली तंत्र स्थापित करना।
  4. किसानों के लिए सलाहकारी तैयार करना तथा उत्पादक किसानों के लाभ के लिए उक्त को जारी करना, विशेषकर आंकड़ों को एकत्र कर उनका उपयोग करना ताकि उत्पादकों को उनका इष्टतम लाभ मिल सके।
  5. बागवानी डाटा को एकत्र करना तथा उनका संकलन करना और जहां तक संभव हो ‘फसल मूल्यांकन सर्वेक्षण फलों एवं सब्जियों’ (सीईएस-एफ एंड वी) की प्रचलित प्रणाली को सुदृढ़ बनाना।
  6. प्रचार, विज्ञापनों, फिल्मों, मुद्रित साहित्य आदि के माध्यम से सूचना प्रसार।
  7. इलेक्ट्राॅनिक रूप में आईटी के माध्यम से साझा करने के लिए प्रौद्योगिकी पैकजों का विकास।

कार्यान्वयन

  1. रा.बा.बो. द्वारा बाजारों को कवर करने की वर्तमान 36 फलों एवं सब्जियों बाजार बढ़ाकर 50 बाजार किया जाएगा।
  2. यह आउटसोर्सिंग द्वारा वर्तमान विपणन/व्यावसायिक अभिकरणों/बेरोजगार कृषि स्नातकों या मंडी मान्यप्राप्त/स्थापित ब्रोकर के माध्यम से निर्धारित मासिक परिश्रमिक (परिवहन सहित) प्रतिमाह की दर से जो बोर्ड द्वारा निर्धारित किया जाएगा, एनएचबी को दी गई प्रेषण जानकारी ( फैक्स, इंटरनेट एवं टेलीफोन ) पर वास्तविक व्यय शामिल हैं, किया जाएगा।
  3. रा.बा.बो. इन बाजारों की पहचान संबद्ध राज्य सरकारों के परामर्श से करेगा।
  4. आनलाईन प्राप्ति, आंकड़ा प्रविष्टि, विश्लेषण, प्रसार तथा वेबसाइट प्रबंधन का एकमात्र प्रकोष्ठ रा.बा.बो. गुड़गांव में स्थापित किया जाएगा।
  5. चयनित व्यावसायिक अभिकरण के आउटसोर्सिंग सेवाओं के द्वारा इस प्रस्तावित बाजार सूचना सेवा प्रकोष्ठ से संबद्ध कार्य को भी किया जाएगा।
  6. प्रौद्योगिकी पैकेज, आंकड़ा प्रविष्टि आदि के कम्प्यूटरीकृत विकास कार्य को हल करने के लिए, आउटसोर्सड स्टाफ जैसे वरिष्ठ प्रोग्रामर, प्रोग्रामर और आँकड़ा प्रविष्टि प्रचालकों और बागवानी सहायक को आवश्यकतानुार एमआईडीएच के टीएसजी घटक के अंतर्गत अनुमोदित रेटों पर लगाया जाएगा।
  7. यह कक्ष प्रचार, मुद्रित साहित्य आदि और स्थानीय विज्ञापनों के माध्यम से सूचना के प्रसार तथा इलेक्ट्राॅनिक रूप में प्रौद्योगिकी पैकेजों का विकास शुरू करने के लिए भी जिम्मेदार होगा।
सहायता का तरीका:- परियोजना आधारित वास्तविक लागत के अनुसार।

बागवानी से संबन्धित अन्य जानकारी

Post a comment

0 Comments